- Advertisement -
HomeTechnologyOmicron recovery tips : कफ सिरप कर सकता है ओमिक्रोन से उबरने...

Omicron recovery tips : कफ सिरप कर सकता है ओमिक्रोन से उबरने में आपकी मदद : Shivpurinews.in


डेल्टा और डेल्टा प्लस से अलग है ओमिक्रोन का संक्रमण। इसलिए आपको इससे मुकाबले की रणनीति भी बदलनी होगी।

आपके मोबाइल का आरोग्य सेतु ऐप (Arogya setu app) आपको बता रहा होगा कि आपके आसपास कोरोना संक्रमण के मामले कितने ज्यादा बढ़ गए हैं। इस मोबाइल ऐप के मुताबिक मेरे 500 मीटर के दायरे में 10,281 लोग संक्रमण के लक्षण दिखा रहे हैं। जबकि 32 लोग कोविड पॉजिटिव हैं। यानी संक्रमण की रफ्तार हमारे, आपके अंदाज से कही ज्यादा तेज है। पर अच्छी बात यह है कि इस बार इसके लक्षण (Omicron symptoms) डेल्टा (Delta) और डेल्टा प्लस (Delta Plus) की तुलना में हल्के हैं। तो विशेषज्ञ भी दे रहे हैं इससे उबरने के लिए रणनीति में थोड़े से बदलाव की सलाह। इस बार कफ सिरप (Cough syrup to recovery from Omicron) इसमें आपकी मदद कर सकता है।

                            <!--AdsDiv-->

तेजी से फैलने वाला वैरिएंट है ओमिक्रोन (Omicron infection rate)

कोरोनावायरस (SARS-CoV-2) परिवार का यह पांचवां (variants) स्वरूप ओमिक्रोन (Omicron aka B.1.1.529) पिछले सभी वैरिएंट्स की तुलना में सबसे तेजी से फैलने वाला स्वरूप है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की सूची में इसलिए रखा था, क्योंकि यह डेल्टा की तुलना में आठ गुना ज्यादा संक्रामक है।

दूसरी लहर में डेल्टा में जहां 8 लोगों को संक्रमित करने की क्षमता थी, तो वहीं ओमिक्राॅन उससे आठ गुना ज्यादा यानी 64 लोगों को संक्रमित कर सकता है। इसलिए विशेषज्ञ इससे बचने की सलाह दे रहे हैं।

ओमिक्रोन का इंफेक्शन रेट पिछले वैरिएंट की तुलना में बहुत ज्यादा है। चित्र: शटरस्टॉक

पिछले वैरिएंट की तुलना में हल्के हैं ओमिक्रोन के लक्षण (Omicron symptoms)

भले ही ओमिक्रोन के संक्रमण की रफ्तार तेज है, पर इसके लक्षण पिछले सभी वैरिएंट की तुलना में हल्के हैं। दक्षिण अफ्रीका और दुनिया भर से प्राप्त हो रहे डेटा के आधार पर विशेषज्ञों ने इन हल्के लक्षणों की पुष्टि की है।

                            <!-- Ads for inner page -->


                            <!--AdsDiv-->

दक्षिण अफ्रीकी डॉक्टर एंजेलिक कोएत्ज़ी, जिन्होंने सबसे पहले नए COVID-19 संस्करण की उपस्थिति के लिए अधिकारियों को सचेत किया, ने कहा है कि मांसपेशियों में दर्द, थकान, गले में खराश और रात को पसीना आना ओमिक्रोन के सामान्य लक्षण हैं।

किंग्स कॉलेज लंदन (King’s College London) एवं अन्य स्वास्थ्य विज्ञान कंपनियों द्वारा संचालित COVID लक्षण अध्ययनों में सामने आया है कि यह नया वैरिएंट रोगियों के ऊपरी श्वसन तंत्र को निशाना बनाता है। जबकि फेफड़ों को शामिल नहीं करता। शुरूआती लक्षणों में ज्यादातर मरीजों ने ठंड लगकर बुखार आने की सूचना दी। जबकि गले में खराश और खांसी लंबे चलने वाले लक्षण हैं।

यह भी देखें – एक्सपर्ट से जानिए ओमिक्रोन और कोविड-19 की तीसरी लहर से बचने के उपाय

                            <!-- Ads for inner page -->


                            <!--AdsDiv-->

 

यही वजह है कि ओमिक्रोन संक्रमण के इतना ज्यादा फैलने के बावजूद हॉस्पिटल में भर्ती होने की दर 1 फीसदी है। ज्यादातर मरीज होम आइसोलेशन में सप्ताह भर में ठीक हो रहे हैं। बशर्ते कि आप सही रणनीति का पालन करें।

ओमिक्रोन से निपटने में कफ सिरप कर सकता है आपकी मदद (Omicron recovery tips)

डाटा के विश्लेषण से प्राप्त रिपोर्ट बता रहीं हैं कि डेल्टा वैरिएंट से संक्रमित मरीजों में जहां ऑक्सीजन का गिरता स्तर और फेफड़ों का संक्रमण मुख्य चिंता था, वहीं ओमिक्रोन में लंबा चलने वाला लक्षण गले की खराश, बलगम और खांसी है।

दिल्ली की विशेषज्ञ डॉक्टर ज्योत्स्ना मिश्रा सुझाव देती हैं, “इससे उबरने में कफ सिरप आपकी मदद कर सकता है। असल में कफ सिरप दो तरह के होते हैं – एंटी अस्थेमेटिक और एंटी एलर्जिक। किसी भी तरह के फ्लू संक्रमण में एंटी एलर्जिक कफ सिरप राहत दे सकते हैं। ये गले में रुके हुए वायरस कणों से होने वाली क्षति को रोकते हैं और गले को राहत देते हैं। जिससे आपको गले की खराश और खांसी में आराम मिलता है।”

                            <!--AdsDiv-->
omicron me cough ki samasya bahut zyada haiओमिक्रोन में कफ की समस्या बहुत ज्यादा है। चित्र: शटरस्टॉक

वे आगे कहती हैं, “बेहतर है कि इसके लिए आप डाॅक्टर की सलाह पर कोई माइल्ड कप सिरप लें। अगर यह आयुर्वेदिक है या शहद आधारित है, तो और भी ज्यादा फायदेमंद होगा। इसलिए ओमिक्रोन की ट्रीटमेंट किट में हम इस बार भाप लेने के साथ-साथ कफ सिरप की भी सलाह दे रहे हैं। पर ध्यान रहे कि बिना डॉक्टरी सलाह के स्वयं उपचार करने से बचना चाहिए। लक्षण चाहें हल्के हैं, पर इन्हें हल्के में नहीं लिया जा सकता।”

कोविड सुरक्षा दिशा निर्देशों का पालन करना जरूरी है। आप दिन में दो बार भाप लें और खुद को दूसरों से अलग कर लें। योग और प्राणायाम का अभ्यास भी आपको जल्दी रिकवरी में मदद कर सकता है।

                            <!-- Ads for inner page -->


                            <!--AdsDiv-->

यह भी पढ़ें – Covid-19: कोविड की सेल्फ टेस्टिंग किट पर कितना भरोसा किया जा सकता है? चलिए पता करते हैं

Source link

Stay Connected
4,900FansLike
10,500FollowersFollow
1,500FollowersFollow
13,500FollowersFollow
Must Read
Related News