Wednesday, December 1, 2021
HomeHealth And Fitnessदांतों की झनझनाहट से चाहिए रिहाई, आज ही जानें कारण और बचने...

दांतों की झनझनाहट से चाहिए रिहाई, आज ही जानें कारण और बचने के उपाय भाई : Shivpurinews.in

- Advertisement -

नई दिल्ली:

सर्दियों का मौसम शुरू हो चुका है. ऐसे में दांतों में दर्द होना आम बात है. दर्द भी क्या कहे मतलब सेंसिटिविटी. सर्दी के मौसम में ठंडा-गर्म लगना तो आम बात है. वैसे तो कई लोगों को ये प्रॉब्लम गर्मियों में भी आने लगती है. लेकिन, ज्यादातर ये प्रॉब्लम ठंड में ही आती है. दांतों में गार्गल करने के दौरान ही ये प्रॉब्लम होने लगती है. इसका रिलेशन ही दांतों की सेंसिटिटविटी से है. अक्सर ठंड में दांत कमजोर होने लगते है. दांतों की पकड़ बनाएं रखने वाली मसल्स भी वीक होने लगती है. ठंड में तो ये और बढ़ने लगती है. तो, चलिए बताते है आपको कि आखिर ऐसा होता क्यों है. टेंशन मत लीजिए इस प्रॉब्लम से बचने के तरीके भी बता देंगे. 

                                           

इसका सबसे पहला कारण है च्विंगम चबाना. अक्सर लोगों को दांतों में च्विंगम चबाने या फिर पेंसिल चबाने का शौक होता है. इसी आदत के कारण उनके दांत कमजोर होने लगते है और दर्द का कारण बनते है. इसी से दांतों में ठंडा गर्म लगना भी शुरू हो जाता है. 

                                           

वहीं दूसरे नंबर पर नशीली चीजें लेना आता है. बता दें कि ठंड में अक्सर सिगरेट, तंबाकू और ऐसी ही दूसरी नशीली चीजें लेने से दांत कमजोर होने लगते है. इनको रोजाना लेने से दांतों के मसूड़े कमजोर होने लगते है. जो कि दर्द का कारण बनते है. दांतों को नुकसान पहुंचाने में चाय-कॉफी भी शामिल है. 

वहीं अगले नंबर पर सुपारी खाना आता है. सुपारी खाने से दांत खराब तो होते ही है. इसके साथ ही दांत घिस भी जाते है. ना सिर्फ सुपारी बल्कि पान भी दांतों को खराब करता है. पान और सुपारी दोनों ही ऐसी चीजें है तो दांतों में सेंसिटिटविटी को बढ़ावा देती है. ये तो दांतों में दर्द या सेंसिटिविटी के कुछ मेन रीजन्स है. जो अक्सर ठंड में देखने को मिलते है. 

                                           

वहीं अगर इस प्रॉब्लम से बचने की बात की जाए तो, वो भी बता देते है. क्योंकि दांतों में दर्द होने का सारा असर फिर आपके खाने पर पड़ने लगता है. तो, इस दर्द से बचने के लिए सबसे पहले तो सॉफ्ट ब्रश का इस्तेमाल करें. हमें दांतों में बिल्कुल सॉफ्ट ब्रश का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि हार्ड मीसल्स वाले ब्रश दांतों को कमजोर कर देते है. 

                                           

वहीं घरेलू नुस्खा भी अपनाया जा सकता है. अब, ये बच्चे तो भले ही ना करें लेकिन, आप जैसे बड़े-बड़े लोग तो कर ही सकते है. भई, बरसों से चला आ रहा है दादी-नानी का नुस्खा. जिसका नाम फिटकरी पाउडर है. जब भी दांतों में ठंडा-गर्म लगने की समस्या आ जाए. तो, बस आक गिलास पानी में डालिए थोड़ा-सा फिटकरी पाउडर और उस पानी को हल्का सा गुनगुना करके. उससे गार्गल कर लें. फिर देखें थोड़े दिनों में अपने आप ही दांतों में ये सेंसिटिटविटी का प्रॉब्लम दूर हो जाएगा. 



संबंधित लेख

Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: