Madhya Pradesh: हरदा में उल्टे पैर के साथ जन्मी बच्ची, माता-पिता ने अस्पताल में छोड़ा

भोपाल: मध्य प्रदेश के हरदा (Harda) में घुटने से उल्टे पैर के साथ एक बच्ची के जन्म लेने का मामला सामने आया है. हरदा जिला अस्पताल (Harda District Hospital) में जन्मी इस बच्ची के दोनों पैर के पंजे पीठ की तरफ हैं और डॉक्टर इसे दुर्लभ केस मान रहे हैं.

माता-पिता ने बच्ची को अस्पताल में छोड़ा

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, हरदा के खिरकिया ब्लॉक के झांझरी के रहने वाले विक्रम की पत्नी पप्पी की सोमवार दोपहर 12 बजे डिलीवरी हुई और उन्होंने बेटी को जन्म दिया. नॉर्मल डिलीवरी (Normal Delhivery) के बाद पता चला कि बच्ची के दोनों पैर उल्टे है. असामान्य बच्ची के पैदा होने के बाद से उसके माता-पिता लापता हैं और बच्ची को अस्पताल में ही छोड़ दिया है.

बच्ची को देख हैरान रह गए डॉक्टर और नर्स

बच्ची को देखकर डॉक्टर और नर्स भी हैरान हैं, इसे दुर्लभ केस मान रहे हैं. वहीं बच्ची का वजन भी सामान्य से काफी कम है. आमतौर पर जन्म के समय बच्चों का वजह 2.7 किलो से 3.2 किलो के बीच होता है, जबकि इस बच्ची का वजह सिर्फ 1.6 किलोग्राम है. हालांकि, जन्म के बाद से बच्ची डॉक्टरों की निगरानी में है और खतरे से बाहर है

करियर में अब तक नहीं देखा ऐसा केस: डॉक्टर

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सनी जुनेजा ने कहा, ‘मेरे 5 साल के करियर में अब तक ऐसा केस नहीं आया. इसको लेकर मैंने इंदौर और भोपाल के शिशु रोग और हड्डी रोग विशेषज्ञों से बात की है. उन्होंने भी इसे रेयर केस माना है.’

ऑपरेशन के बाद सीधा हो सकता है पैर

इंदौर के अरबिंदो हॉस्पिटल के हड्‌डी रोग विशेषज्ञ डॉ. पुष्पवर्धन मंडलेचा ने बताया, ‘यह एक दुर्लभ मामला है, जो लाखों में एक होते हैं. मां के गर्भ में कम जगह होने के कारण या अनुवांशिक की वजह से ऐसे मामले हो सकते हैं. बच्ची को देखने के बाद ही कुछ कहा जा सकता है, क्योंकि अब तक इस तरह का मामला मैंने नहीं देखा है. हालांकि, ऑपरेशन के बाद पैरों को सीधा किया जा सकता है.

लाइव टीवी

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *