आर्मी स्कूल से की थी पढ़ाई, लेकिन बन गया शार्प शूटर; जानें ये हैरान करने वाली कहानी

आर्मी स्कूल से की थी पढ़ाई, लेकिन बन गया शार्प शूटर; जानें ये हैरान करने वाली कहानी

नई दिल्ली: राजधानी में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने काला जठेड़ी-लॉरेंस विश्नोई गैंग से जुड़े एक शार्प शूटर को गिरफ्तार किया है. इसने पिछले काफी समय से कई राज्यों कि पुलिस की नाक में दम कर रखा था. सबसे हैरान करने वाली बात ये है कि इस अपराधी ने आर्मी स्कूल से पढ़ाई की थी.

छिपने के लिए आया था दिल्ली

एक के बाद एक कई हत्याओं को अंजाम देने वाला ये शूटर 22 जून को पंजाब में एक शूटआउट के बाद दिल्ली छिपने के लिए आया था. यही इसकी सबसे बड़ी गलती साबित हुई. स्पेशल सेल की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया. 

शूटर के पास गैंग का पर्चा भी मिला

शूटर के पास से गैंग का वो पर्चा भी मिला है जो वो खौफ फैलाने के लिए पंजाब में हत्या के बाद मौके पर फेंकने वाला था, लेकिन नहीं फेंक सका

स्पेशल सेल की काउंटर इंटेलिजेंस यूनिट के डीसीपी मनीषी चंद्रा ने ज़ी न्यूज़ को बताया कि उनकी टीम ने 23 साल के नीतीश उर्फ प्रधान को गिरफ्तार किया है, जो मूलरूप से झज्जर का रहने वाला है.

पुलिस के मुताबिक, पंजाब में 22 जून को नीतीश और उसके विरोधी गैंग के बीच शूटआउट हुआ जिसमें नीतीश के एक साथी की मौत हो गई. इसके बाद नीतीश बस से कश्मीरी गेट बस अड्डे पर उतरा जहां उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

उसके बैग से गैंग का एक कपड़े से बना पर्चा मिला जिसमें गोल्डी बरार-काला जठेड़ी ज़िंदाबाद लिखा हुआ था, ये पर्चा वह पंजाब में अपने विरोधी की हत्या के बाद खौफ फैलाने के लिए शव के पास डालने वाला था, लेकिन जब शूटआउट में उसका एक साथी मारा गया वो वहां से भाग गया.

एक के बाद एक की कई हत्याएं

नीतीश ने पिछले कुछ सालों में ताबड़तोड़ हत्याओं को अंजाम दिया है. जुर्म की इसकी फेहरिस्त कितनी लंबी है. ये हम आप को बताते हैं.

-दिसंबर 2019 में पंजाब में नीतीश ने मन्ना नाम के शख्स की हत्या करवाई.

-जुलाई 2020 में सिरसा में 2 शराब कारोबारियों की हत्या करवाई.

-अगस्त 2020 में यमुनानगर में रंगदारी न देने पर एक कारोबारी की हत्या की.

-अक्टूबर 2020 में झज्जर में एक आशुतोष नाम के शख्स की नीतीश ने गोली मारकर हत्या की.

-22 जून 2021 को पंजाब के फरीदकोट में हरवेल सिंह को मारने की कोशिश की.

-6 मार्च 2021 को दिल्ली के बवाना इलाके से नीतीश ने अपने साथियों के साथ एक सिविल वॉलिंटियर को अगवा किया और उसकी 25 गोलियां मारकर हत्या की.

-मार्च 2021 में नीतीश ने अपने साथियों के साथ गुरुग्राम से स्कोर्पियो कार में 3 लोगों को अगवा किया, जिसमें 2 की गोली मारकर हत्या कर दी जबकि तीसरा भागने में सफल रहा.

-फरवरी 2021 में नीतीश ने अपने साथियों के साथ दिल्ली के छावला में एक प्रॉपर्टी डीलर के दफ्तर पर हमला किया, जिसमें एक शख्स के दोनों पैरों में गोली मार दी.

-फरवरी 2021 में ही एक एलपीजी गैस एजेंसी के मालिक से रंगदारी मांगने के लिए नीतीश ने दिल्ली के मुंडका में उसके दफ्तर में फायरिंग की जिसमें एक शख्स की मौत हो गई. 
इसके अलावा गैंगस्टर नरेश सेठी और काला जठेड़ी को अपने साथियों के साथ नीतीश ने पुलिस पुलिस कस्टडी से छुड़वाया था.

सैनिक स्कूल से 12वीं पास है अपराधी

दरअसल, जुर्म की दुनिया के इस ग्रेजुएट ने सैनिक स्कूल से बाहरवीं पास की थी, लेकिन ये सैनिक बनने की बजाय जुर्म की दुनिया का एक ऐसा शार्प शूटर बन गया जिसने कई गैंगस्टर को पुलिस की कस्टडी से छुड़ाने में अहम रोल अदा किया. हाल ही में जीटीबी अस्पताल के बाहर से फरार हुए फज्जा नाम के बदमाश को भी फरार कराने में इसका रोल अहम था. पुलिस अब इसके जरिये इस गैंग के बाकी लोगों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back To Top
%d bloggers like this: