Wednesday, December 1, 2021
HomeNation NewsNainital Zoo: ठंड से बचाने के लिए वन्यजीवों के डाइट चार्ट में...

Nainital Zoo: ठंड से बचाने के लिए वन्यजीवों के डाइट चार्ट में हुआ बदलाव, दिए जाएंगे विटामिन : Shivpurinews.in

- Advertisement -

सार

पशु चिकित्सक हिमांशु पांगती ने बताया कि दिसंबर पहले सप्ताह से वन्यजीवों के भोजन में प्रोटीन, विटामिन व सप्लीमेंट बढ़ा दिए जाएंगे।

नैनीताल चिड़ियाघर
– फोटो : फाइल फोटो

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

नैनीताल चिड़ियाघर के पशु-पक्षियों को ठंड से बचाने के लिए जू प्रबंधन दिसंबर से वन्यजीवों के डाइट चार्ट में सप्लीमेंट, प्रोटीन और विटामिन की मात्रा बढ़ाएगा। हर साल ठंड में इजाफा होते ही नैनीताल स्थित जीबी पंत वन्य प्राणी उद्यान में वन्यजीवों के खान-पान में बदलाव किया जाता है।

चिड़ियाघर में तैनात पशु चिकित्सक हिमांशु पांगती ने बताया कि दिसंबर पहले सप्ताह से वन्यजीवों के भोजन में प्रोटीन, विटामिन व सप्लीमेंट बढ़ा दिए जाएंगे। जू में मौजूद बाघ, तेंदुआ, मारखोर और भालू के भोजन में प्रोटीन बढ़ाया जाएगा। भालू की डाइट में शहद और बाघ, तेंदुआ व रेड पांडा को अंडा दिया जाएगा। साथ ही इनके बाड़ों में तिरपाल के साथ ब्लोअर लगाया जाएगा। उनके दाने में प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ाई जाएगी। 

दून चिड़ियाघर: गुड़ खाने के साथ ही अजवाइन का पानी पी रहे वन्यजीव
दून चिड़ियाघर के अधिकारियों व कर्मचारियों को चिड़ियाघर के वन्यजीवों और पक्षियों को ठंड से बचाने को लेकर चिंता सताने लगी है। चिड़ियाघर के वन्यजीवों और पक्षियों को ठंड से बचाया जा सके, इसके लिए जहां उन्हें गुड़ खिलाने के साथ ही अजवाइन का पानी पिलाया जा रहा है। चिड़ियाघर के तमाम वन्यजीवों, पक्षियों के बाड़ों की छतों के ऊपर पुआल डालकर बाड़ों को गर्म रखने की कोशिश की जा रही है। 

दून चिड़ियाघर के वन क्षेत्राधिकारी मोहन सिंह रावत ने बताया कि ठंड बढ़ने के साथ ही चिड़ियाघर के सभी वन्यजीवों, पक्षियों को ठंड से बचाने को लेकर सारे एहतियाती कदम उठा लिए गए हैं। चिड़ियाघर के काकड़, हिरण जैसे वन्यजीवों को जहां चारे के साथ गुड़ खिलाया जा रहा है, वहीं पर शुतुरमुर्ग, मकाउ जैसे तमाम देशी विदेशी पक्षियों को दानों के साथ ही अजवाइन का पानी पिलाया जा रहा है। 

इसके अलावा चिड़ियाघर के सांप बाड़े में मौजूद करैत, अजगर, कोबरा समेत दर्जन भर प्रजातियों के सांपों को ठंड से बचाया जा सके इसके लिए सांपों के बाड़े में अंडों की संख्या बढ़ा दी गई है, ताकि वे अधिक से अधिक अंडों का सेवन का खुद को गर्म रख सकें। सांपों के बारे में हीटर भी लगाए गए हैं। वहीं चिड़ियाघर के जिन वन्यजीवों, पक्षियों को ठंडक लगने के लक्षण पाए जाते हैं, तत्काल विभागीय पशु चिकित्साधिकारी उनका इलाज कराया जाता है। 

दून चिड़ियाघर में दर्जनभर प्रजातियों के वन्यजीवों के अलावा 100 से अधिक प्रजातियों के देशी विदेशी पक्षी पाए जाते हैं। जिनकी सुरक्षा को लेकर चिड़ियाघर प्रशासन की ओर से ठंडक के हिसाब से उनकी सुरक्षा को लेकर तमाम कदम उठाए जाते हैं। 

विस्तार

नैनीताल चिड़ियाघर के पशु-पक्षियों को ठंड से बचाने के लिए जू प्रबंधन दिसंबर से वन्यजीवों के डाइट चार्ट में सप्लीमेंट, प्रोटीन और विटामिन की मात्रा बढ़ाएगा। हर साल ठंड में इजाफा होते ही नैनीताल स्थित जीबी पंत वन्य प्राणी उद्यान में वन्यजीवों के खान-पान में बदलाव किया जाता है।

चिड़ियाघर में तैनात पशु चिकित्सक हिमांशु पांगती ने बताया कि दिसंबर पहले सप्ताह से वन्यजीवों के भोजन में प्रोटीन, विटामिन व सप्लीमेंट बढ़ा दिए जाएंगे। जू में मौजूद बाघ, तेंदुआ, मारखोर और भालू के भोजन में प्रोटीन बढ़ाया जाएगा। भालू की डाइट में शहद और बाघ, तेंदुआ व रेड पांडा को अंडा दिया जाएगा। साथ ही इनके बाड़ों में तिरपाल के साथ ब्लोअर लगाया जाएगा। उनके दाने में प्रोटीन की मात्रा भी बढ़ाई जाएगी। 

दून चिड़ियाघर: गुड़ खाने के साथ ही अजवाइन का पानी पी रहे वन्यजीव

दून चिड़ियाघर के अधिकारियों व कर्मचारियों को चिड़ियाघर के वन्यजीवों और पक्षियों को ठंड से बचाने को लेकर चिंता सताने लगी है। चिड़ियाघर के वन्यजीवों और पक्षियों को ठंड से बचाया जा सके, इसके लिए जहां उन्हें गुड़ खिलाने के साथ ही अजवाइन का पानी पिलाया जा रहा है। चिड़ियाघर के तमाम वन्यजीवों, पक्षियों के बाड़ों की छतों के ऊपर पुआल डालकर बाड़ों को गर्म रखने की कोशिश की जा रही है। 

दून चिड़ियाघर के वन क्षेत्राधिकारी मोहन सिंह रावत ने बताया कि ठंड बढ़ने के साथ ही चिड़ियाघर के सभी वन्यजीवों, पक्षियों को ठंड से बचाने को लेकर सारे एहतियाती कदम उठा लिए गए हैं। चिड़ियाघर के काकड़, हिरण जैसे वन्यजीवों को जहां चारे के साथ गुड़ खिलाया जा रहा है, वहीं पर शुतुरमुर्ग, मकाउ जैसे तमाम देशी विदेशी पक्षियों को दानों के साथ ही अजवाइन का पानी पिलाया जा रहा है। 

इसके अलावा चिड़ियाघर के सांप बाड़े में मौजूद करैत, अजगर, कोबरा समेत दर्जन भर प्रजातियों के सांपों को ठंड से बचाया जा सके इसके लिए सांपों के बाड़े में अंडों की संख्या बढ़ा दी गई है, ताकि वे अधिक से अधिक अंडों का सेवन का खुद को गर्म रख सकें। सांपों के बारे में हीटर भी लगाए गए हैं। वहीं चिड़ियाघर के जिन वन्यजीवों, पक्षियों को ठंडक लगने के लक्षण पाए जाते हैं, तत्काल विभागीय पशु चिकित्साधिकारी उनका इलाज कराया जाता है। 

दून चिड़ियाघर में दर्जनभर प्रजातियों के वन्यजीवों के अलावा 100 से अधिक प्रजातियों के देशी विदेशी पक्षी पाए जाते हैं। जिनकी सुरक्षा को लेकर चिड़ियाघर प्रशासन की ओर से ठंडक के हिसाब से उनकी सुरक्षा को लेकर तमाम कदम उठाए जाते हैं। 

Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: