Saturday, November 27, 2021
HomeNation Newsझारखंड : कार के लिए कैब चालक की कर दी हत्या, चार...

झारखंड : कार के लिए कैब चालक की कर दी हत्या, चार महीने बाद मिला कंकाल, दो गिरफ्तार : Shivpurinews.in

- Advertisement -

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जमशेदपुर
Published by: Kuldeep Singh
Updated Thu, 25 Nov 2021 04:40 AM IST

सार

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शर्मा के पास से श्रीवास्तव का मोबाइल फोन भी मिला है। पुलिस ने कहा कि पूछताछ के दौरान, उन्होंने कहा कि दोनों ने कार बेचने के इरादे से जिले के चांडील बांध के पास सिर पर पत्थर मारकर ऐप कैब चालक की हत्या करने की बात कबूल की।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले के जंगल से पुलिस ने आज (बुधवार को) करीब चार महीने पहले लापता हुए एक एप कैब चालक का कंकाल बरामद किया। 22 साल के राहुल श्रीवास्तव के परिवार के सदस्यों ने बीती दो अगस्त को एमजीएम थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तीन अक्तूबर को आईपीसी की धारा 365 के तहत मामला दर्ज किया गया।

थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मिथिलेश कुमार ने कहा कि गलत तरीके से कैद अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि मंगलवार को पुलिस ने 22 वर्षीय संदिग्ध सुधीर कुमार शर्मा और उसके साथी 21 वर्षीय रवींद्र महतो को पूछताछ के लिए उठाया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शर्मा के पास से श्रीवास्तव का मोबाइल फोन भी मिला है। पुलिस ने कहा कि पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने कार बेचने के इरादे से जिले के चांडील बांध के पास सिर पर पत्थर मारकर कैब चालक की हत्या करने की बात कबूल की। इसके बाद वे कथित तौर पर शव को जंगल में छोड़कर कार और मोबाइल फोन लेकर फरार हो गए।

उनके बयान के आधार पर एक पुलिस दल ने जंगल से कंकाल बरामद किया, अधिकारी ने कहा कि कार भी मिल गई है। उन्होंने कहा कि न्यायिक हिरासत में भेजे गए आरोपियों ने कथित तौर पर वाहन के संभावित खरीदार से एडवांस कैश लिया था। आगे की जांच की जा रही है।

विस्तार

झारखंड के सरायकेला-खरसावां जिले के जंगल से पुलिस ने आज (बुधवार को) करीब चार महीने पहले लापता हुए एक एप कैब चालक का कंकाल बरामद किया। 22 साल के राहुल श्रीवास्तव के परिवार के सदस्यों ने बीती दो अगस्त को एमजीएम थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तीन अक्तूबर को आईपीसी की धारा 365 के तहत मामला दर्ज किया गया।

थाना प्रभारी इंस्पेक्टर मिथिलेश कुमार ने कहा कि गलत तरीके से कैद अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ दर्ज किया गया था। उन्होंने बताया कि मंगलवार को पुलिस ने 22 वर्षीय संदिग्ध सुधीर कुमार शर्मा और उसके साथी 21 वर्षीय रवींद्र महतो को पूछताछ के लिए उठाया।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शर्मा के पास से श्रीवास्तव का मोबाइल फोन भी मिला है। पुलिस ने कहा कि पूछताछ के दौरान दोनों आरोपियों ने कार बेचने के इरादे से जिले के चांडील बांध के पास सिर पर पत्थर मारकर कैब चालक की हत्या करने की बात कबूल की। इसके बाद वे कथित तौर पर शव को जंगल में छोड़कर कार और मोबाइल फोन लेकर फरार हो गए।

उनके बयान के आधार पर एक पुलिस दल ने जंगल से कंकाल बरामद किया, अधिकारी ने कहा कि कार भी मिल गई है। उन्होंने कहा कि न्यायिक हिरासत में भेजे गए आरोपियों ने कथित तौर पर वाहन के संभावित खरीदार से एडवांस कैश लिया था। आगे की जांच की जा रही है।

Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular