Saturday, November 27, 2021
HomeMp Newsमध्य प्रदेश में खाद संकट गहराया: कॉलेज छोड़ छात्राएं लगीं खाद लेने...

मध्य प्रदेश में खाद संकट गहराया: कॉलेज छोड़ छात्राएं लगीं खाद लेने के लिए लाइन में   : Shivpurinews.in

- Advertisement -

{“_id”:”619f897661a9ac4dd6551b11″,”slug”:”fertilizer-crisis-deepens-in-madhya-pradesh-girls-leaving-college-to-get-fertilizer”,”type”:”story”,”status”:”publish”,”title_hn”:”मध्य प्रदेश में खाद संकट गहराया: कॉलेज छोड़ छात्राएं लगीं खाद लेने के लिए लाइन में  “,”category”:{“title”:”City & states”,”title_hn”:”शहर और राज्य”,”slug”:”city-and-states”}}

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, छतरपुर
Published by: रवींद्र भजनी
Updated Thu, 25 Nov 2021 06:32 PM IST

सार

मध्य प्रदेश में खाद संकट गहरा गया है। छतरपुर में स्कूल-कॉलेज छोड़कर खाद की लाइन में छात्राओं को खड़ा होना पड़ रहा है।  

छतरपुर में कॉलेज जाने के बजाय खाद की लाइन में लगी छात्रा।
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

मध्य प्रदेश में खाद संकट गहरा गया है। निवाड़ी में खाद मांगने गए किसान को पुलिस ने पीटा था। फिर शिवपुरी में रात भर से लाइन में लगे किसानों को खाद न मिलने पर एबी रोड पर चक्काजाम किया गया। अब छतरपुर में कॉलेज की पढ़ाई छोड़ खाद की लाइन में लगी छात्राओं की तस्वीरें सामने आई हैं। ये छात्राएं पढ़ाई छोड़ दिनभर खाद की लाइन में खड़ी रहती हैं। 

छतरपुर में सटई रोड स्थित सरकारी समिति बगौता वेयरहाउस में कॉलेज छात्राएं खाद के लिए लाइन में लगी थी। उन्होंने बताया कि पिता की मजबूरी देखकर खाद के लिए लाइन में लगना पड़ा। अगर खेती नहीं हुई तो पढ़ाई के लिए पैसे कहां से लाएंगे। खेती से ही हमारे परिवार का पेट पलता है। अगर खाद ही नहीं होगी तो खाने को कहां से लाएंगे? मजबूर होकर हमें लाइन में लगना पड़ा। छात्रा ने बताया कि उसके पिता दो-तीन दिन से खाद के लिए आ रहे थे, लेकिन भीड़ होने के कारण उन्हें खाद नहीं मिल पाई। इस वजह से उसे पढ़ाई छोड़ खुद खाद लेने आना पड़ा।

सुबह 4 बजे से लगने लगती है लाइन  
ठंड के मौसम में भी ज्यादातर जिलों में रात से ही लाइनें लग जाती हैं। छतरपुर में खाद और डीएपी के संकट को देखते हुए किसान सुबह चार बजे से ही लाइन लगा देते हैं। इसके बाद भी रात को 11:00 बजे तक एक या दो बोरी खाद और डीएपी की मिल पाती है। 
कॉलेज छात्रा रीना अहिरवार ने बताया कि वह सुबह से लाइन में लगी है। कई घंटों बाद ही उसे खाद मिलेगी। यानी आज तो कॉलेज से छुट्टी ही हो गई है।  
   

विस्तार

मध्य प्रदेश में खाद संकट गहरा गया है। निवाड़ी में खाद मांगने गए किसान को पुलिस ने पीटा था। फिर शिवपुरी में रात भर से लाइन में लगे किसानों को खाद न मिलने पर एबी रोड पर चक्काजाम किया गया। अब छतरपुर में कॉलेज की पढ़ाई छोड़ खाद की लाइन में लगी छात्राओं की तस्वीरें सामने आई हैं। ये छात्राएं पढ़ाई छोड़ दिनभर खाद की लाइन में खड़ी रहती हैं। 

छतरपुर में सटई रोड स्थित सरकारी समिति बगौता वेयरहाउस में कॉलेज छात्राएं खाद के लिए लाइन में लगी थी। उन्होंने बताया कि पिता की मजबूरी देखकर खाद के लिए लाइन में लगना पड़ा। अगर खेती नहीं हुई तो पढ़ाई के लिए पैसे कहां से लाएंगे। खेती से ही हमारे परिवार का पेट पलता है। अगर खाद ही नहीं होगी तो खाने को कहां से लाएंगे? मजबूर होकर हमें लाइन में लगना पड़ा। छात्रा ने बताया कि उसके पिता दो-तीन दिन से खाद के लिए आ रहे थे, लेकिन भीड़ होने के कारण उन्हें खाद नहीं मिल पाई। इस वजह से उसे पढ़ाई छोड़ खुद खाद लेने आना पड़ा।

सुबह 4 बजे से लगने लगती है लाइन  

ठंड के मौसम में भी ज्यादातर जिलों में रात से ही लाइनें लग जाती हैं। छतरपुर में खाद और डीएपी के संकट को देखते हुए किसान सुबह चार बजे से ही लाइन लगा देते हैं। इसके बाद भी रात को 11:00 बजे तक एक या दो बोरी खाद और डीएपी की मिल पाती है। 

कॉलेज छात्रा रीना अहिरवार ने बताया कि वह सुबह से लाइन में लगी है। कई घंटों बाद ही उसे खाद मिलेगी। यानी आज तो कॉलेज से छुट्टी ही हो गई है।  

   

Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular