Tuesday, December 7, 2021
HomeNation Newsअलीगढ़ : बुधवार को भी रोडवेज बसों की कमी से जूझे यात्री...

अलीगढ़ : बुधवार को भी रोडवेज बसों की कमी से जूझे यात्री : Shivpurinews.in

- Advertisement -

सारसौल स्थित परिवहन निगम के वर्कशॉप में खड़ी रोडवेज बस। संवाद
– फोटो : CITY OFFICE

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

बुधवार को भी रोडवेज बसों की कमी से यात्रियों को जूझना पड़ा। चालक-परिचालक का स्टाफ पूरा न होने से बुधवार को परिवहन निगम की सभी बसें वर्कशॉप से नहीं निकल पाईं। ऐसे में रूट पर बसों की संख्या सीमित रही। हालात यह रही कि लोगों को घंटों बस का इंतजार करना पड़ा। किसी बस के आते ही यात्री सामान और बच्चों को शरीर से चिपकाए हुए दौड़ लगा देते।
बुधवार को अलीगढ़ डिपो की कुल 115 बसों में से शाम तक 40 बसें रवाना हो पाईं, जबकि बुद्धविहार डिपो की कुल 133 में से 53 बसें ही रूट पर चल सकीं। बताया गया कि सहालग के चलते स्टाफ अवकाश पर चल रहा है। बताते हैं कि अलीगढ़ डिपो की 115 बसों में 20 प्रतिशत से अधिक बसें तकनीकी सामान के अभाव में खराब हैं।
इस डिपो की 75 बसें ही इन दिनों चल रही थीं लेकिन स्टाफ के अभाव में बुधवार की शाम चार बजे तक कुल 53 बसें ही वर्कशॉप से निकलीं। इसी तरह बुद्धविहार डिपो की 133 बसों में से 25 प्रतिशत बसें खराब हैं। इस डिपो की 52 बसें ही नियमित रूप से संचालित थीं, लेकिन बुधवार को 40 बसें ही रवाना हो सकीं।
क्षेत्रीय प्रबंधक मो. परवेज खान ने बताया कि दोनों एआरएम को निर्देश दिए गए हैं कि स्टाफ को इस तरह छुट्टी देने के निर्देश दिए गए हैं, जिससे बसों का संचालन प्रभावित न हो। बृहस्पतिवार को पूरी तैयारी के साथ अधिकांश बसों को संचालित कराया जाएगा।

बुधवार को भी रोडवेज बसों की कमी से यात्रियों को जूझना पड़ा। चालक-परिचालक का स्टाफ पूरा न होने से बुधवार को परिवहन निगम की सभी बसें वर्कशॉप से नहीं निकल पाईं। ऐसे में रूट पर बसों की संख्या सीमित रही। हालात यह रही कि लोगों को घंटों बस का इंतजार करना पड़ा। किसी बस के आते ही यात्री सामान और बच्चों को शरीर से चिपकाए हुए दौड़ लगा देते।

बुधवार को अलीगढ़ डिपो की कुल 115 बसों में से शाम तक 40 बसें रवाना हो पाईं, जबकि बुद्धविहार डिपो की कुल 133 में से 53 बसें ही रूट पर चल सकीं। बताया गया कि सहालग के चलते स्टाफ अवकाश पर चल रहा है। बताते हैं कि अलीगढ़ डिपो की 115 बसों में 20 प्रतिशत से अधिक बसें तकनीकी सामान के अभाव में खराब हैं।

इस डिपो की 75 बसें ही इन दिनों चल रही थीं लेकिन स्टाफ के अभाव में बुधवार की शाम चार बजे तक कुल 53 बसें ही वर्कशॉप से निकलीं। इसी तरह बुद्धविहार डिपो की 133 बसों में से 25 प्रतिशत बसें खराब हैं। इस डिपो की 52 बसें ही नियमित रूप से संचालित थीं, लेकिन बुधवार को 40 बसें ही रवाना हो सकीं।

क्षेत्रीय प्रबंधक मो. परवेज खान ने बताया कि दोनों एआरएम को निर्देश दिए गए हैं कि स्टाफ को इस तरह छुट्टी देने के निर्देश दिए गए हैं, जिससे बसों का संचालन प्रभावित न हो। बृहस्पतिवार को पूरी तैयारी के साथ अधिकांश बसों को संचालित कराया जाएगा।

Source link

- Advertisement -
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

%d bloggers like this: